अब 45 से अधिक उम्र वाले स्वस्थ लोग भी ले सकते हैं कोरोना की वैक्सीन, पूरा प्रोसेस जानिए

देश में कोरोना के लगातार बढ़ रहे केस के बीच आज गुरुवार 1 अप्रैल से बिहार भर में 45 वर्ष से ऊपर के उम्र वाले हर शख्स को कोरोना वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी। अभी तक 45 वर्ष से ऊपर के उम्र वाले उन लोगों को ही वैक्सीन लग रही थी, जो अस्वस्थ थे या किसी गंभीर बीमारी के शिकार थे। बिहार में भी आज से इस टीकाकरण योजना की शुरुआत खुद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे पटना के IGIMS में इस अभियान की शुरुआत करेंगे।

मंगल पांडे ने बताया कि राज्य में आज से 45 और उससे ज्यादा उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जाएगी। कोरोना से सुरक्षा और बचाव के लिए सरकार ने सभी शिक्षकों और राज्य सरकार के कर्मियों को भी टीका देने का फैसला भी किया है। इस योजना के तहत राज्य सरकार के कर्मियों के अलावा उनके परिजनों को भी कोरोना का टीका लगाया जाएगा। इसके लिए राज्य के सभी वैक्सीनेशन सेंटर्स को तैयार कर लिया गया है। वैक्सीन लेने वाले लोग Co-Win पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। साथ में वैक्सीनेशन सेंटर्स पर भी ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन के साथ वैक्सीन ली जा सकती है।

दोपहर 3 बजे के बाद कर सकेंगे रजिस्ट्रेशन
वैक्सीन लेने के लिए लोग Co-WIN पोर्टल पर आज गुरुवार 1 अप्रैल से दोपहर 3 बजे के बाद रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे।

रजिस्ट्रेशन के लिए जरूरी – मोबाइल नंबर और फोटो ID
रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको अपने मोबाइल नंबर और फोटो पहचान पत्र की जरूरत पड़ेगी। सरकार द्वारा जारी 12 तरह के पहचान पत्र में से किसी का भी उपयोग किया जा सकता है। इसके द्वारा ही रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया होगी। अब रजिस्ट्रेशन कर रहे 45 वर्ष की उम्र से ऊपर के लोगों को बीमारी का कोई सर्टिफिकेट नहीं देना होगा।

पढ़े :   नीतीश कैबिनेट का बड़ा फैसला: धान खरीद के लिए 2500 करोड़ रुपये मंजूर

कौन से पहचान पत्र दे सकते हैं:
आप आधार नंबर, ड्राइविंग लाइसेंस, हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, वोटर ID, पैन कार्ड, बैंक/पोस्‍ट ऑफिस पासबुक, पासपोर्ट, पेंशन डॉक्‍युमेंट, MP/MLA/MLC का ID कार्ड, सरकारी कर्मचारियों का सर्विस ID कार्ड, नैशनल पॉपुलेशन रजिस्‍टर के तहत जारी स्‍मार्ट कार्ड में से किसी एक से खुद को वेरिफाई करा सकते हैं।

रजिस्ट्रेशन कैसे होगा
– आप Co-Win 2 एप या Co-WIN पोर्टल पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
– सबसे पहले मोबाइल नंबर देना होगा। इसे OTP से वेरीफाई करने के बाद जिस फोटो ID का इस्तेमाल करना है, वो बताना होगा। इसे ही लेकर आगे आपको वैक्सीनेशन सेंटर पर जाना है।
– इसके बाद फोटो ID संख्या, फोटो ID के मुताबिक पूरा नाम डालना होगा। आपको Gender और उम्र भी दर्ज करना होगा।

– 45 साल की उम्र पूरा करने के बाद ही आप आगे बढ़ पाएंगे, नहीं तो रजिस्ट्रेशन नहीं होगा।
– रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपके चुने हुए सरकारी या निजी किसी भी अस्पताल में ससमय पहुंच कर वैक्सीन ले सकेंगे। बिहार में निजी अस्पतालों में भी वैक्सीन फ्री में लगेगी।

ऐसे होगा वैक्सीनेशन:
वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंच कर आपको नंबर लगाना होगा। नंबर आने पर रजिस्ट्रेशन संख्या बताना होगा और इसके लिए दर्ज पहचान पत्र दिखाना होगा। अगर आपने पहले से रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है, तो आधार कार्ड या अन्य पहचान पत्र देकर ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

– रजिस्ट्रेशन के बाद आपकाे एक स्लिप दी जाएगी, जिसपर एक नंबर अंकित होगा।
– नंबर के आधार पर क्रमवार आपको आवाज लगाकर बुलाया जाएगा।
– भीड़ के अनुसार इस प्रक्रिया में आधा घंटा से दो घंटे तक का समय लग सकता है।
– बारी आने पर आपको सेंटर के भीतर बने वैक्सीनेशन रूम में ले जाया जाएगा।

पढ़े :   7वां वेतन आयोग समेत इन एजेंडों पर कैबिनेट के फैसले में बनी सहमति, ...जानिए

– वैक्सीन लगाने में मात्र 30 सेकेंड से एक मिनट का समय लगेगा।
– अब आधे घंटे तक वेटिंग लाउंज में बैठना होगा, जहां डॉक्टर आपकी मॉनिटरिंग करेंगे।
– किसी प्रकार की परेशानी आने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना होगा।
– आधे घंटे के बाद आप आसानी से घर जा सकते हैं।