लालू प्रसाद को मिलेगी जेपी सम्मान पेंशन, नीतीश ने किया लेने से इनकार

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को जेपी सेनानी सम्मान योजना के तहत पेंशन मिलेगी। लालू प्रसाद ने इसके लिए फॉर्म भरा है। प्रक्रिया पूरा हो गया है और पेंशन देने का प्रपोजल बिहार की होम मिनिस्ट्री को भेज दिया गया है। जेपी पेंशन उन लोगों को दी जाती है जो 1974 में जेपी आंदोलन के दौरान जेल में रहे थे। वैसे तो नीतीश कुमार भी पेंशन लेने के हकदार हैं लेकिन वो इसे लेने से पहले ही इनकार कर चुके हैं।

10 हजार प्रतिमाह मिलेगी पेंशन
जेपी सेनानी सम्मान योजना के तहत लालू प्रसाद को प्रतिमाह 10 हजार रुपये पेंशन मिलेगी। पेंशन राशि की दो श्रेणी है। जेपी आंदोलन के दौरान छह माह से कम जेल में रहने वालों को राज्य सरकार 5 हजार रुपये बतौर पेंशन देती है। वहीं आंदोलन के दौरान छह माह से ज्यादा जेल में रहने वाले व्यक्तियों के लिए पेंशन की राशि 10 हजार रुपये प्रतिमाह है। लालू प्रसाद इसी श्रेणी में आते हैं। चूंकि वह जेपी आंदोलन के दौरान छह माह से ज्यादा समय तक जेल में रहे, इसलिए उन्हें 10 हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलेगी।

जून 2009 के बाद से मिलेगा पैसा
नीतीश कुमार ने अपने पहले टैन्योर में इस पेंशन स्कीम को लॉन्च किया था। लालू को भी पेंशन जून 2009 के हिसाब से मिलेगी। यानी उन्हें 2009 के बाद से अब तक का पैसा मिलेगा। बता दें कि सीएम नीतीश कुमार भी जेपी आंदोलन के वक्त छह महीने से ज्यादा वक्त तक जेल में रहे थे। लेकिन उन्होंने पेंशन स्कीम का लाभ लेने से पहले ही इनकार कर दिया था।

करीब 2500 लोगों को मिल रहा पेंशन का लाभ
जेपी सेनानी सम्मान योजना के अंतर्गत करीब 2500 व्यक्तियों को मासिक पेंशन का लाभ मिल रहा है। वैसे 3100 के करीब आवेदन स्वीकृत किए गए हैं।

पढ़े :   आरक्षण और मिड डे मील पर नीतीश सरकार का बड़ा फैसला...

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!