इन शर्तों के साथ अब अपने घर लौट पाएंगे लॉकडाउन में फंसे लोग, …जानिए

कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए देश में लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन के कारण देश में कई लोग अपने घर से दूर दूसरी जगहों पर फंस गए है। इनमें प्रवासी मजदूर, तीर्थयात्री, पर्यटक और छात्र शामिल है। वहीं केंद्र सरकार ने फंसे हुए इन लोगों के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। नई गाइडलाइन के तहत फंसे हुए लोग अपने घर जा सकेंगे। इसके लिए कुछ शर्ते हैं।

आदेश में कहा गया है कि घर ले जाए जाने से पहले लोगों का मेडिकल चेकअप किया जाएगा। स्क्रीनिंग में जिन लोगों में लक्षण नहीं पाए जाएंगे उन्हें यात्रा की अनुमति दी जाएगी। एक जगह से दूसरे जगह ले जाए जाने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखना होगा और जब लोग अपने-अपने घर पहुंचेंगे तो उन्हें होम क्वॉरन्टीन में रहना होगा।

ट्रांसपोर्ट के लिए बस का इस्तेमाल किया जाएगा। बस के भीतर बैठाए जाने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। जब कोई शख्स अपने लोकेशन तक पहुंच जाएगा तो वहां की लोकल हेल्थ अथॉरिटी उन्हें देखेंगी। जब तक इंस्टीट्यूशनल क्वॉरन्टीन की जरूरत न हो उन्हें होम क्वॉरन्टीन में रहना होगा।

इसके साथ ही गाइडलाइन में ये भी कहा गया है कि सभी राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों को इसके लिए नोडल ऑथोरिटी नियुक्त करना होगा। लोगों को भेजने और रिसीव करने के लिए एक स्टैंडर्ड प्रोटकॉल बनाना होगा। फंसे लोगों को उनके लोकेशन तक पहुंचाए जाने के क्रम में जिन राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों से होकर ये आवाजाही होगी उन्हें इसकी इजाजत देनी होगी।

पढ़े :   तेजप्रताप यादव को सीबीआइ ने इस मामले में दिया क्लीन चिट, ...जानिए

राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों से अनुरोध किया गया है कि वे ऐसे व्यक्तियों को आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करें जिनके माध्यम से उनकी स्वास्थ्य स्थिति की निगरानी रखी जा सके और ज़रूरत पडने पर उनका पता लगाया जा सके। 

गौरतलब है कि 27 अप्रैल को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की तब इसमें लॉकडाउन में फसें लोगों के मुद्दे पर चर्चा हुई थी।

पहले भी दो बार कई तरह की छूट का ऐलान कर चुकी है सरकार
इसके पहले भी केंद्र सरकार की तरफ से लॉकडाउन के बीच कई तरह की छूट का ऐलान किया जा चुका है। केंद्र सरकार ने टेक्सटाइल, निर्माण, जेम्स एंड ज्वेलरी जैसे 15 बड़े औद्योगिक क्षेत्रों में काम शुरू करने की छूट दी है। कृषि कार्य, ग्रॉसरी की दुकानें खोलने, फल-सब्जी बेचने वाले, इलेक्ट्रीशियन-मैकेनिक को भी छूट दे रखी है। मंगलवार को ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों को आदेश दिया था कि वह सुरक्षा उपायों के साथ अपने अस्पताल, क्लीनिक खोल सकते हैं। 

Leave a Reply