सिर्फ गरीब हिन्दू ही नहीं बल्कि हर संप्रदाय के गरीब भी आएंगे 10 फीसदी आरक्षण के दायरे में, …जानिए

मोदी सरकार ने सामान्य वर्ग में आने वाले आर्थिक रूप से कमजोर तबके को नौकरी और शिक्षा में 10 फीसदी आरक्षण देने का फैसला लिया है। केंद्रीय कैबिनेट के इस फैसले में धर्म की अड़चन नहीं रखी गई है। यानी सामान्य श्रेणी में आने वाले देश के हर गरीब नागरिक को इस व्यवस्था का लाभ मिलेगा, उसमें हिंदू से लेकर मुस्लिम और दूसरे धार्मिक अल्पसंख्यक भी शामिल हैं।

कैबिनेट में सोमवार को जो फैसला लिया गया है, उसमें आरक्षण की मौजूदा व्यवस्था का फायदा पाने वाले किसी भी जाति वर्ग को इसका लाभ नहीं मिलेगा। यानी ओबीसी या एससी-एसटी आरक्षण का जो लोग फायदा उठा रहे हैं वे नई व्यवस्था में शामिल नहीं किए जाएंगे। इसके अलावा सरकार ने अपने फैसले को धर्म से परे रखते हुए हर संप्रदाय के सामान्य श्रेणी वाले गरीब को इस आरक्षण का लाभ पहुंचाने का फैसला लिया है।

किन लोगों को मिलेगा फायदा
-जिनकी सालाना आय 8 लाख से कम हो
-जिनके पास 5 हेक्टेयर से कम की खेती की जमीन हो
-जिनके पास 1000 स्क्वायर फीट से कम का घर हो
-जिनके पास निगम की 109 गज से कम अधिसूचित जमीन हो
-जिनके पास 209 गज से कम की निगम की गैर-अधिसूचित जमीन हो
-जो अभी तक किसी भी तरह के आरक्षण के अंतर्गत नहीं आते थे

बता दें कि मौजूदा आरक्षण व्यवस्था के तहत अनुसूचित जाति (SC) को 15 फीसदी, अनुसूचित जनजाति (ST) को 7.5 फीसदी और अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) को 27 फीसदी आरक्षण दिया जाता है। यानी कुल 49.5 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था अभी लागू है। अब सरकार ने इससे अलग सामान्य श्रेणी वाले गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण का निर्णय लिया है। इसके लिए सरकार संविधान में संशोधन करने जा रही है।

पढ़े :   अब कचरे से रोशन होंगे घर! CM नीतीश ने किया वेस्ट टू इनर्जी प्लांट का शिलान्यास, ...जानिए

Leave a Reply

error: Content is protected !!