लालू के ‘कन्हैया’ पर मोदी मेहरबान, मिली ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गयी है। नयी सुरक्षा व्यवस्था के तहत अब तेज प्रताप यादव पहले से बड़े कारकेड और पहले से अधिक सुरक्षा घेरे के साथ चलेंगे।

बता दे की पिछले सप्ताह पीएम नरेंद्र मोदी जब पटना आये थे, तो उन्होंने तेजप्रताप को ‘कन्हैया जी’ संबोधित कर उनका हालचाल पूछा था। बाद में उन्हें किशन कन्हैया भी कहा था। 1 जनवरी को तेजप्रताप ने मीडिया वालों के लिए बांसुरी बजाई थी और इससे पहले पिछले महीने जब वह मथुरा गए थे तो वहां उन्होंने कृष्ण भक्ति पर लोगों का खूब मनोरंजन किया था। संभवत: प्रधानमंत्री मोदी ने तेजप्रताप की वह तस्वीर देखी थी, इसलिए उन्होंने तेजप्रताप को कन्हैया नाम से संबोधित किया था।

सीआरपीएफ के महानिदेशक ने इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि तेज प्रताप यादव की सुरक्षा व्यवस्था को केंद्र सरकार ने भी मंजूरी दी है। राज्य सरकार भी गृह विभाग से हरी झंडी मिलने के बाद किसी व्यक्ति को वाई श्रेणी की सुरक्षा देती है। जानकारी के मुताबिक वाई श्रेणी की सुरक्षा में कुल ग्यारह पुलिसकर्मी मौजूद रहते हैं। जिस व्यक्ति को ये सुरक्षा दी जाती है उसकी सुरक्षा में पुलिस की एक जीप और ड्राइवर भी उपलब्ध कराया जाता है। सुरक्षा में दो सब इंस्पेक्टर, दो हेड कांस्टेबल, चार कांस्टेबल और दो होमगार्ड होते हैं।

इनको मिला है वाई श्रेणी की सुरक्षा
बिहार में तेजप्रताप के अलावा सांसद पप्पू यादव, लोजपा सांसद चिराग पासवान, भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय, कांग्रेस अध्यक्ष सह मंत्री अशोक चौधरी, सांसद जनार्दन सिग्रीवाल सरीखे कई नेताओं को केंद्र सरकार की तरफ से वाई श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गयी है।

पढ़े :   17 साल बाद खत्म हुआ बिहार क्रिकेट का 'वनवास', ...जानिए

Leave a Reply

error: Content is protected !!