कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त: हादसे में कई यात्रियों की मौत तो कई घायल, …जानिए

उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के खतौली रेलवे स्टेशन के पास शनिवार को पुरी-हरिद्वार एक्सप्रेस (18477 – कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस) के 8 ड‍िब्बे पटरी से उतर गए। जानकारी के अनुसार हादसा शनिवार की शाम 5 बजकर 46 मिनट पर हुआ। ट्रेन हादसे में मरने वालों की संख्या 23 हो गई है। हादसे में करीब 150 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। इनमें से 26 लोग गंभीर रूप से जख्मी हैं, वहीं बाकी लोगों को हल्की चोटें आई हैं।

हादसे के बाद डिब्‍बे एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गए हैं। एक डिब्बा तिलक इंटर कॉलेज में तो दूसरा डिब्बा नजदीक के एक घर में घुस गया। हादसे में पैट्रीं कार को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है। दो AC बोगी और चार स्‍लीपर क्‍लास को भी नुकसान हुआ है। ट्रेन हादसे के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिए गए हैं।

हेल्पलाइन नंबर
डीएम, मुजफ्फरनगर- 9454417574
एसएसपी, मुजफ्फरनगर- 9454400314
सीएमओ, मुजफ्फरनगर- 9412333612, 9634092001
एसपी सिटी, मुजफ्फरनगर- 9454401127
एसडीएम खतौली- 9454417008
सीओ खतौली- 9454401611
एसओ जीआरपी, मुजफ्फरनगर- 9454404449
रेलवे कंट्रोल रूम- 0131-2645238
आरपीएफ- 0131-2437160

यूपी और ओडिशा सरकार, रेलवे ने किया मुआवजे का एलान
– यूपी सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए मुआवजा देने का एलान किया।
– रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा, ” मृतकों के परिजनों को 3.5 लाख, गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार और अन्य घायलों को 25 हजार रुपए मुआवजा दिया जाएगा।’
– ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपए देने का एलान किया।

पढ़े :   बाइक की ठोकर से साईकिल सवार अधेड़ की मौत 

इस रेल हादसे के पीछे बड़ी लापरवाही की भी बात सामने आ रही है। घटनास्थल के पास पटरियां कटी हुई हैं और वहां से हथौड़े, रिंच और अन्य औजार मिले हैं। बताया जा रहा है कि मुजफ्फरनगर के खतौली में ट्रैक पर मरम्मत का काम चल रहा था। ऐसे में फिर सवाल उठ रहा है कि ट्रेन को उक्त ट्रैक पर जाने क्यों दिया गया?

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!