जल्द ही मेट्रो शहरों को टक्कर देगा बिहार का ये तीन स्टेशन

मुजफ्फरपुर, पटना साहिब व बक्सर रेलवे जंक्शन आने वाले दिनों में मेट्रो शहर को टक्कर देगा। जंक्शन को विकसित करने के लिए रेलवे रूपरेखा तैयार की है। जंक्शन पर पीपीपी मोड के तहत अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान, कॉर्पोरेट हाउस, होटल, मॉल के साथ सर्विस अपार्टमेंट व ऑफिस बनाए जायेंगे। इसके लिए पेशेवरों की टीम जंक्शन परिसर का सर्वे करेगी।

टीम में स्वतंत्र आर्किटेक्ट, रियल एस्टेट विशेषज्ञ व मार्केट एक्सपर्ट शामिल होंगे। टीम गठन को लेकर कवायद शुरू कर दी गयी है। टीम खाली जगहों के अलावा जंक्शन के ऊपरी हिस्से (एयर स्पेस) का सर्वे कर रेलवे को अपनी रिपोर्ट देगी। निर्माण कार्यों पर एक हजार करोड़ रुपये खर्च का अनुमान है। रेलवे ने स्टेशन को गुजरात के गांधीनगर स्टेशन की तर्ज पर विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने की योजना तैयार की है।

तैयारी शुरू
-खाली जगहों व एयर स्पेस में खोले जायेंगे मॉल, होटल व कॉर्पोरेट हाउस
-आर्किटेक्ट, रीयल एस्टेट व मार्केट एक्सपर्ट करेंगे जंक्शन परिसर का सर्वे
-पीपीपी मोड के तहत गांधीनगर स्टेशन की तरह जंक्शन का होगा विकास
-1हजार करोड़ रुपये खर्च का अनुमान

बहुमंजिलीय टावर पर बनेंगे होटल व मॉल
स्टेशन पर कई बहुमंजिलीय टावर बनाये जाने की योजना है। उपरी मंजिल में अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान, मॉल व बाजार होंगे। वहीं भूतल में बस स्टैंड व पार्किंग की सुविधा होगी। यहां से आसपास के जिलों के लिए बसें खुलेंगी। ट्रैफिक का दबाव कम करने के लिए कई समानांतर रूट भी तैयार किए जायेंगे।

36स्टेशनों पर पीपीपी मोड से आर्थिक केंद्र
पूर्व मध्य रेलवे के 36 स्टेशनों पर पीपीपी मोड के तहत आर्थिक केंद्र खोले जाने की योजना है। प्रथम चरण में मुजफ्फरपुर समेत तीन शहरों का चयन किया गया है। इसमें पटना साहिब व बक्सर भी शामिल हैं। उत्तर बिहार की अघोषित राजधानी होने के कारण मुजफ्फरपुर का चयन किया गया है। जंक्शन के आसपास तेजी से खुल रहे अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान व होटलों को लेकर भी रेलवे उत्साहित है।

पढ़े :   बिहार को केंद्रीय कैबिनेट की बड़ी सौगात: इन बड़ी रेल योजनाओं को मिली मंजूरी, ...जानिए

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!