पीएम मोदी के बाद सीएम नीतीश ने भी लगवाई कोरोना वैक्सीन

देश में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण का दूसरा चरण आज से शुरू हो गया है। 60 साल से ज्यादा उम्र और 45-59 साल के गंभीर बिमारियों से ग्रसित लोगों को इस चरण में टीका लगाया जाएगा। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार सुबह दिल्ली स्थित एम्स अस्पताल पहुंचे और उन्होंने कोवैक्सीन का पहला डोज लिया। पीएम को भारत बायोटेक और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा निर्मित कोवैक्सीन की डोज दी गई है।

सीएम नीतीश ने जन्मदिन पर लगवाई कोरोना वैक्सीन
पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने जन्मदिन के मौके पर कोरोना वैक्सीन का पहला डोज़ इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान पहुंच कर लिया। उनके साथ उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी ने भी टीका लगवाया। इनके अलावा मंत्री विजय चौधरी और विजेंद्र यादव ने भी टीका लगवाया। मंत्री मंगल पांडेय भी टीका लगवाने वाले थे, लेकिन उनकी उम्र कम होने की वजह से टीका नहीं दिया जा सका।

निजी अस्पतालों में भी लगेगा मुफ्त टीका
बिहार में सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन मुफ्त में लगाई जाएगी, चाहे वह जहां लगे, निजी या सरकारी अस्पताल में। टीका लेने पर किसी तरह का शुल्क नहीं देना होगा।

पैसे देकर टीका लगवाएं बीजेपी के सांसद और मंत्री
दूसरी ओर बीजेपी ने बताया है कि पार्टी के सारे मंत्री, सांसद और विधायक अगले एक सप्ताह में कोरोना का टीका लगवाएंगे। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी की ओर निर्देश दिया गया है कि 60 साल से ऊपर के मंत्री, सांसद और विधायक या फिर गंभीर बीमारी से पीड़ित 45 से अधिक उम्र वाले नेतागन अपने-अपने क्षेत्र में पैसे देकर टीका लगवाएंगे।

पढ़े :   नीतीश कैबिनेट का फैसला: राज्य के सभी डॉक्टरों को अब केंद्र की तर्ज पर मिलेगा प्रोन्नति का लाभ

बीजेपी सूत्रों के अनुसार पैसा देकर टीका लगवाने का निर्देश इसलिए दिया गया है, ताकि सरकारी अस्पतालों में केवल उन्हें ही मुफ्त टीका मिले जो इसकी कीमत नहीं चुका सकते। इसके साथ सभी से कहा गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में टीका लगवाएं, जिससे आम लोगों में टीके के प्रति भरोसा जगेगा।