पूरे देश में जल्द चलने वाली हैं ट्रेनें, जानें पूरी डिटेल

लॉकडाउन के चलते रुकी हुई भारतीय रेलवे एक बार फिर से ऑपरेशन शुरू करने जा रही है। 12 मई से भारतीय रेलवे धीरे-धीरे ट्रेनों का संचालन शुरू करने वाला है।

शुरूआत में रेलवे द्वारा अभी 12 मई से नई दिल्ली से 15 शहरों के लिए ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इन सभी ट्रेनों की बुकिंग केवल आईआरसीटीसी की वेबसाइट या मोबाइल ऐप के माध्यम से ऑनलाइन 11 मई से शुरू हो गया है। केवल कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों में प्रवेश करने की अनुमति होगी। इन ट्रेनों में अधिकतम 7 दिन तक का अडवांस टिकट कटाया जा सकेगा। इन ट्रेनों में ना ही वेटिंग लिस्ट जारी किए जाएंगे और ना ही आरएसी के टिकट मिलेंगे। इन ट्रेनों में ट्रेन चलने से 24 घंटे पहले तक टिकट रद्द कराया जा सकता है लेकिन टिकट रद्द कराने पर यात्रियों का 50 फीसदी पैसा काट लिया जाएगा।

टिकटों पर ‘क्या करें और क्या ना करें’ स्पष्ट रूप से लिखा होगा। उसमें दिशा-निर्देश भी शामिल होंगे, जैसे- कम से कम 90 मिनट पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना। यात्रियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। स्क्रीनिंग के बाद सिर्फ उन्हीं लोगों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी जिनमें वायरस से संक्रमण के कोई लक्षण नजर नहीं आएंगे। कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़े अन्य प्रोटोकॉल तथा आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना आदि।

रेलवे के मुताबिक यात्रियों को कंफर्म टिकट के बदले सिर्फ सीट मिलेगा। उन्हें चादर, कंबल, तौलिया नहीं मिलेगा। यात्रियों के भोजन की भी व्यवस्था नहीं होगी (यात्रियों को खाना-पानी लाना होगा। ट्रेन में पानी की बॉटल और रेडी टू ईट फूड सिमित मात्रा में आईआरसीटीसी यात्रा के दौरान पैसा देने पर उपलब्ध करवाएगा)। इन ट्रेनों के डिब्बों में मौजूद सभी सीटों पर बुकिंग होगी और इनके किराए में किसी भी प्रकार की छूट नहीं मिलेगी। किराए में कोई बदलाव नहीं हुआ है। सिर्फ एसी ट्रेन चलेगी और राजधानी वाला किराया लगेगा (खानपान शुल्क को छोड़कर)। अभी तत्काल और प्रीमियम तत्काल सेवा का कोई प्रावधान नहीं रहेगा। किसी भी वर्तमान बुकिंग की भी अनुमति नहीं दी जाएगी।

पढ़े :   बिहार के शहरी लोगों को अब नहीं मिलेगा सब्सिडी वाला केरोसिन

अभी 15 ट्रेनें (अप-एंड-डाउन मिलाकर 30 ट्रेनें) डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बंगलुरू, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी को जोड़ने वाली नई दिल्ली स्टेशन से विशेष ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी। सफर के दौरान ट्रेन सीमित स्टेशन पर ही रूकेंगी।

300 और श्रमिक ट्रेनों का होगा संचालन
इसके साथ ही भारतीय रेलवे कोरोना वायरस देखभाल केंद्रों के लिए 20,000 कोचों को आरक्षित करने के बाद उपलब्ध कोचों के आधार पर नए मार्गों पर धीरे-धीरे और अधिक विशेष ट्रेनें शुरू करेगा। इसके अतिरिक्त श्रमिक स्पेशल के तौर पर 300 ट्रेनों के संचालन के लिए भी कोचों को अलग से आरक्षित किया जाएगा।

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में भी अब डिब्बों में मौजूद सभी सीटों पर लोग जा सकेंगे, तीन स्टेशनों पर भी रूकेगी
अब श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में भी डिब्बों में मौजूद सभी सीटों पर यात्रियों को भेजा जाएगा। रेलवे ने सोमवार को गाइडलाइन में बदलाव किया है। यही नहीं, अब इन स्पेशल ट्रेनों को नॉन-स्टॉप नहीं चलाया जाएगा। मतलब ये ट्रेनें संबंधित राज्य में डेस्टिनेशन स्टेशन के अलावा 3 जगहों पर रुकेंगी। रेलवे ने संबंधित राज्यों में गंतव्य के अलावा तीन जगहों पर गाड़ियों के ठहराव के लिए कहा है। राज्य सरकारों ने रेलवे से यह गुजारिश इसलिए की थी कि एक ही रूट के ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को ले जाया जा सके।

Leave a Reply