बिहार के इन प्रखंडों में बनेगा रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम, …जानिए

बिहार के पटना जिले के पांच प्रखंडों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाने का कार्य अगले सप्ताह से शुरू हाेगा। समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में जल शक्ति अभियान की समीक्षा के दाैरान डीएम कुमार रवि ने फुलवारीशरीफ, संपतचक, पुनपुन, अथमलगोला व पटना सदर में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाने का कार्य तीन-चार दिनाें के अंदर शुरू करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जलशक्ति अभियान काे जिले के सभी प्रखंडों में मनरेगा के तहत चलाने की योजना बनाई गई है।

इसके तहत बारिश के पानी काे संरक्षित कर भूगर्भ जल काे रिचार्ज किया जाएगा। जिले में 12376 अतिक्रमित जल निकाय काे चिह्नित किया गया है। उन्हाेंने अतिक्रमणमुक्त कराया जाएगा। सभी कार्यक्रम पदाधिकारी काे अपने-अपने प्रखंड में एक पंचायत का चयन कर भू-जलधारण क्षमता में वृद्धि से संबंधित कार्यक्रम अयोजित करने, बैनर-फ्लैक्स लगाकर ग्रामीणों की भागीदारी सुनिश्चित करते हुए जागरुकता अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही ग्रामीण कार्य विभाग की सड़काें के दाेनाें ओर पाैधराेपण कराने के लिए रिपाेर्ट मांगी गई है। माैके पर उपविकास आयुक्त डाॅ. आदित्य प्रकाश, सभी सहायक परियोजना पदाधिकारी मौजूद थे।

स्कूलों में बनेगा साेकपिट
डीएम ने कहा कि जिले के सभी स्कूलों में सोकपिट निर्माण हाेगा। पहले चरण में डीईओ काे हर ग्राम पंचायत के पांच स्कूलों का चयन कर सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है, ताकि इन स्कूलों में सोकपिट का निर्माण कार्य शुरू किया जा सके।

इन याेजनाओं पर काम

  • छत के वर्षा जल संचयन की संरचना का निर्माण।
  • चापाकल, कुआँ व बोरवेल से निकले व्यर्थ पानी के संचयन करने के लिए सोकपिट व रिचार्ज पिट का निर्माण।
  • चेक-डैम व कटूर बांध का निर्माण।
  • जल संरक्षण व संचयन की अपूर्ण योजनाओं काे पूर्ण करना।
  • तालाब व पोखरा की उड़ाही, खेत-पोखर योजनाओं पर कार्य।
  • सूक्ष्म एवं लघु सिंचाई, नहरों की उड़ाही, सिंचाई कैनाल व ड्रेन का जीर्णोद्धार करना।
पढ़े :   एमएसयू कार्यकर्ता को जान से मारने की धमकी मामले में वरीय अधिकारियों से सुरक्षा की गुहार

Leave a Reply