चारा घोटाला से जुड़े तीसरे मामले में लालू और जगन्नाथ मिश्रा दोषी करार

चारा घोटाला के चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी मामले में में सीबीआई की विशेष अदालत ने बुधवार को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को दोषी करार दिया है। इस केस में कोर्ट ने 50 आरोपियों को दोषी करार दिया है और उन्हें आज ही 2.30 बजे इस मामले में सजा सुनाई जाएगी। इसके साथ ही 6 आरोपियों को बरी किया गया है। मालूम हो कि चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में लालू प्रसाद फिलहाल रांची के होटवार जेल में सजा काट रहे हैं। 

पढ़े :   चारा घोटाला से जुड़े मामले में लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5-5 साल की सजा

इस फैसले के बाद पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि सीबीआई कोर्ट के निर्णय के खिलाफ हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद को जेल भेजने में सीएम नीतीश कुमार और बीजेपी का हाथ हैं। जनता सब समझ रही है और हमलोग जनता के बीच जाकर अपनी बातों को रखेंगे।

यह केस चाईबासा ट्रेजरी से अवैध तरीके से 33.13 करोड़ रुपए की निकासी से जुड़ा है। इस केस में लालू प्रसाद समेत कुल 56 लोग आरोपी बनाए गए थे। वर्ष 1992-93 में फर्जी आवंटन पत्र के आधार पर 33.13 करोड़ रुपए की अवैध निकासी की गई थी।

इस मामले में सीबीआई की विशेष न्यायाधीश एस एस प्रसाद ने 10 जनवरी को मामले की सुनवाई पूरी कर ली थी। इस प्राथमिकी में सीबीआई ने कुल 76 लोगों को आरोपी बनाया था। सुनवाई के दौरान 14 आरोपियों की मौत हो गई। जबकि एक आरोपी फूल सिंह अभी भी फरार है।

मालूम हो कि चारा घोटाले का यह तीसरा मामला है जिसमें लालू प्रसाद पर फैसला आया है। इससे पहले दो मामले में लालू प्रसाद को सजा हो चुकी है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!