सचिन तेंदुलकर के सबसे बड़े फैन मुजफ्फरपुर के सुधीर गौतम बनेंगे बिहार के ब्रांड एंबेसडर

सचिन तेंदुलकर को अपना भगवान मानने वाले मुजफ्फरपुर के मूल निवासी सुधीर गौतम बिहार के ब्रांड एंबेसडर बन सकते हैं।

क्रिकेट के ‘भगवान सचिन तेंदुलकर के प्रति दीवानगी को एक समय लोगों ने पागलपन करार दिया था। ‘पागल’ से ‘भक्त’ बन चुके सुधीर कुमार गौतम का कारवां अब क्रिकेट से आगे बढ़ गया है।

जी हाँ उनकी दीवानगी को देखते हुए ही मतदाताओं को वोटिंग के लिए प्रेरित करने हेतु मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन ने क्रिकेट के ‘भगवान’ सचिन तेंदुलकर के दीवाने सुधीर गौतम को 2015 में ब्रांड एंबेसेडर बनाया था। 2016 में उन्हें राज्य का ब्रांड एंबेसेडर बनाने का प्रस्ताव निर्वाचन आयोग को भेजा गया है।

हाल ही में वे सचिन के कहने पर हैदराबाद में प्रीमियर बैडमिंटन लीग में बेंगलुरु ब्लास्टर्स के खिलाडिय़ों की हौसला अफजाई करते दिखे। उन्होंने कहा कि सचिन के कहने पर वे बेंगलुरु ब्लास्टर्स टीम को चीयर करने पहुंचे।

शरीर पर कुछ दिनों के लिए बेंगलुरु ब्लास्टर्स ने टीम इंडिया की जगह ले ली। मगर, पीठ पर तेंदुलकर व सिर पर भारत का नक्शा कायम रहा। यहां भी वे दर्शकों के आकर्षण का केंद्र बने रहे।

सचिन की मौजूदगी में देखा मैच : सुधीर ने बताया कि सचिन तेंदुलकर ने ही मुझे बेंगलुरु ब्लास्टर्स के लिए ‘चीयर’ करने को कहा था। उनके साथ ही मैंने हैदराबाद में मैच का आनंद लिया और खिलाडिय़ों का उत्साह बढ़ाया।

शरीर पर कुछ दिनों के लिए बेंगलुरु ब्लास्टर्स ने टीम इंडिया की जगह ले ली। मगर, पीठ पर तेंदुलकर व सिर पर भारत का नक्शा कायम रहा। सुधीर को अफसोस रहा कि टीम सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सकी।

पढ़े :   खुशखबरी: बिहार को रेलवे ने दिया राजधानी एक्सप्रेस का तोहफा, ...जानिए

दोस्त ही उठा रहे जिम्मेदारी : कभी क्रिकेट मैच के टिकट के लिए भटकने वाले सुधीर को अब परेशानी नहीं होती है। टीम इंडिया के जहां भी मैच होते हैं वहां उनके दोस्त टिकट की व्यवस्था कर देते हैं। इतना ही नहीं, रहने व खाने की सारी जिम्मेदारी उठाने में भी वे गर्व महसूस करते हैं।

कई बार तो कोई खिलाड़ी ही टिकट उपलब्ध करा देते हैं। आने-जाने को लेकर अब भी परेशानी है। मगर, इसके लिए भी कोई न कोई मिल ही जाता है। उन्हें अब शरीर पर पेंटिंग कराने का खर्च भी नहीं लगता है।

चलती फिरती क्रिकेट डायरी : टीम इंडिया के मैच कब और कहां हैं, इसकी जानकारी हमेशा सुधीर की जुबां पर रहती है। चालू सत्र के अलावा विदेशों में होने वाले मैच की जानकारी के हिसाब से वह अपनी तैयारी रखते हैं। साढ़े चार सौ से अधिक मैच देख चुके सुधीर की चाहत है कि कम से कम एकबार सचिन तेंदुलकर उनके घर पधारें।

मैच देखने का रिकॉर्ड : 279 एक दिवसीय, 58 टेस्ट, 49 टी-20, 63 आइपीएल व तीन रणजी मैच (कुल 452) देख चुके सुधीर इसकी संख्या हजार से अधिक ले जाना चाहते हैं।

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!