पर्यटन पर्व के लिए बिहार से इस जगह का हुआ चयन

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पूरे देश में होने वाले आयोजनों के लिए बिहार से बोधगया का चयन हुआ है। 06 अक्टूबर को यहां संस्कृति मंत्रालय द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने 05 से 25 अक्टूबर के बीच ‘पर्यटन पर्व’ मनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए देश के सभी राज्यों से एक-एक पर्यटन स्थलों का चयन कार्यक्रमों के लिए किया गया है। बिहार से बोधगया का चयान किया गया है।

केंद्र सरकार ने आयोजन से संबंधित सूचना राज्य सरकार को भेज दी है। साथ ही यह भी सुझाव दिया है कि पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए राज्य सरकार 05 से 25 अक्टूबर के बीच अपने स्तर से भी विभिन्न पर्यटन स्थलों पर कार्यक्रम का आयोजन कर सकती है।

केंद्र ने कहा है कि पर्यटन पर्व के आयोजन में राज्य सरकार बढ़-चढ़कर हिस्सा ले। महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। सुझाव दिया है कि टूर ऑपरेटरों और पर्यटन के क्षेत्र में साझीदारों के साथ बैठक कर उन्हें जागरूक किया जाए, ताकि पर्यटकों की संख्या बढ़ाई जा सके। गया में जहां 6 अक्टूबर को आयोजन होगा, वहीं देश के दूसरे राज्यों के लिए अलग-अलग तिथि तय की गई है।

केंद्र ने यह भी सुझाव दिए
-मुख्य पर्यटक स्थलों को पर्यटन पर्व के दौरान रंगीन लाइटों से सजाया जाए
-स्कूलों और स्थानीय लोगों के बीच सांस्कृतिक कार्यक्रम कराया जाए
-जगह-जगह व्यंजन मेला हस्तशिल्प कला की प्रदर्शनी लगाई जाए
-चित्रकला प्रतियोगिता कराई जाए

इसलिए बोधगया का चयन
बोधगया बौद्ध धर्मावलंबियों बहुत बड़ा पर्यटन स्थल है। विश्व के कोने-कोने से यहां सैलानी आते हैं। बौद्ध धर्मावलंबियों के अलावा देसी पर्यटक भी बड़ी संख्या में आते हैं। यहां विश्वस्तरीय पर्यटीय सुविधाएं भी हैं।

पढ़े :   बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मिला दिल्ली में नया ठिकाना

Leave a Reply

error: Content is protected !!