हीरा उगलेगी बिहार की धरती: यहां मिला खान, जल्द शुरू होगी खुदाई

बिहार की धरती भी अब हीरा उगलेगी। दरसल रोहतास की धरती में खजाना छिपा है। भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण (जीएसआइ) ने इस वर्ष किए गए सर्वेक्षण के आधार पर जिले को हीरा धारित बेड क्षेत्र घोषित किया है।

सासाराम और शिवसागर प्रखंड के आसपास हीरे की खान के संकेत मिलने से सरकार की नजर टिक गई है। प्रशासन ने खान का पता करने के लिए आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी है। डीएम के अनुसार जल्द जीएसआइ की टीम खोदाई करने आएगी।

जीएसआइ की सर्वेक्षण रिपोर्ट में रोहतास के हीरा धारित बेड होने की बात कही गई है जिसके बाद राज्य सरकार ने खनन का कार्य शुरू कराने की तैयारी शुरू कर दी है। हीरा की खान का पता लगाने में सरकार सफल रही तो यहां रोजगार के अवसर भी तेजी से बढ़ेंगे।

खान एवं भूतत्व विभाग के अधिकारियों के अनुसार खनन विभाग और राज्य भूतात्विक कार्यक्रम पर्षद की बैठक में जीएसआइ के सर्वे के बाद हीरा की खान का अन्वेषण करने का निर्णय लिया गया। शिवसागर के सेंदुआर में सोना के कण भी प्राप्त हुए है। पुरातात्विक स्थल होने के कारण यहां कई रहस्य जमीन में छिपे हुए हैं।

जिले में चूना पत्थर व नौहट्टा में पोटाश खनिज का जी-3 स्तर का सर्वेक्षण भी मार्च 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा। जबकि पाइराइट्स भंडार के निर्धारण कार्य भी अगले तीन माह में कर लिया जाएगा।

डीएम अनिमेष कुमार पराशर के अनुसार रोहतास पहले से ही धान का कटोरा कहा जाता है। अब हीराधारित क्षेत्र के रूप में भारतीय भूगर्भ विभाग के सर्वेक्षण द्वारा चयनित होने के बाद यहां हीरे की खान मिलने की संभावना जताई गई है।

पढ़े :   यह भी है एक 'पाकिस्तान', यहां शान से फहराता तिरंगा, और जहां दिलों में बसता हिंदुस्तान

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!