पाकिस्तानी गोलीबारी में शहीद हुआ बिहार का लाल

जम्मू-कश्मीर के एलओसी इलाके के तंगधार में नियंत्रण रेखा के पार से पाकिस्तान की ओर से की गयी गोलीबारी में बिहार के जमुई निवासी बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया। अधिकारियों ने बताया कि संघर्षविराम की घटना में 28 वर्षीय कांस्टेबल सुनील कुमार मुर्मू गंभीर रूप से घायल हो गये थे। श्रीनगर के आर्मी अस्पताल में मंगलवार की रात साढ़े आठ बजे उनकी मौत हो गयी।

एसके मुर्मू इलाके में नियंत्रण रेखा पर फॉरवर्ड डिफेंडेड लोकेशन पर तैनात थे। उन्हें निशाना बनाकर स्नाइपर शॉट किया गया। गोली जवान के पेट में लगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उन्हें पाकिस्तानी बलों ने गोली मारी। बिहार के जमुई जिले के हरणी के रहनेवाले सुनील कुमार मुर्मू वर्ष 2013 में बीएसएफ में शामिल हुए थे। सुनील मुर्मु की शहादत की खबर से उनके गांव में मातम पसरा है। पिता कैलाश मुर्मू व पत्‍नी हुलिया हेम्‍ब्रम सहित अन्य परिजन जहां मर्माहत हैं, वहीं उन्हें उसकी शहादत पर गर्व भी है।

सुनील की शादी 2012 में नवादा गायघाट निवासी सोमरा हेंब्रम की पुत्री दुलिया हेंब्रम से हुई थी। उसके दो बेटे बेटा आनंद राज मुर्मु (5) और आदित्य राज मुर्मु (3) अपनी मां के साथ जमुई में किराए के मकान में रहते हैं। आनंद जमुई के संत जोसेफ स्‍कूल का छात्र है। पत्नी ने हाल ही में आयोजित बिहार पुलिस की परीक्षा में सफलता हासिल की है। आगे 28 मार्च को उसकी शारीरिक परीक्षा होनी है।

मालूम हो कि हाल ही में भोजपुर के मोहाजिद खान और खगड़िया के किशोर कुमार मुन्ना भी बॉर्डर पर शहीद हो चुके हैं।

पढ़े :   बिहार के छात्रों ने ढूंढा बाढ़ का समाधान,15 हजार खर्च कर 2 घंटे में तैयार किया ब्रिज

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!