बिहार के तबला वादक संदीप दास को मिला 2017 का ग्रैमी अवार्ड

बिहार के पटना के रहने वाले तबला वादक संदीप दास को मशहूर ग्रैमी पुरस्कार से नवाजा गया है। म्यूजिक एल्बम कैटेगरी में वायलिन वादक यो यो मा के एल्बम सिंग मी होम को अवार्ड दिया गया है। यह यो यो मा का 19 वां ग्रैमी अवार्ड है।

इस एल्बम में यो यो मा और भारतीय तबला वादक संदीप दास की जुगलबंदी है और उन्हें भी इस प्रतिष्ठित पुरस्कार से नवाजा गया है। ग्रैमी जीतने वाले एल्बम ‘सिंग मी होम’ की धुनें दुनियाभर के संगीतकारों ने तैयार की है, यह एल्बम यो यो मा की डॉक्युमेंट्री ‘द म्यूजिक ऑफ स्ट्रेंजर्सः यो यो मा एंड द सिल्क रोड एनसेंबल’ का एक हिस्सा है।

इस एल्बम में यो यो मा और संदीप दास के अलावा सीरियाई शहनाई वादक किनान अजमेह का भी योगदान है। अवॉर्ड समारोह में संदीप लाल कुर्ता पहनकर भारतीय परिधान में पहुंचे थे।

दास ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा, ” जब ऐसी चीजें होती हैं तो हम पर इसका सीधा प्रभाव पड़ता है क्योंकि हमने विभिन्न देशों का बहुत कुछ अपनाया है। वर्तमान में, मुझे लगता है कि हम और संगीत बनाते रहेंगे तथा और प्रेम फैलाते रहेंगे। ”

संदीप दास का जन्म बिहार की राजधानी पटना में हुआ है। सेंट जेवियर से स्कूलिंग करने के बाद उन्होंने बीएचयू से इंग्लिश लिटरेचर पढ़ाई की संदीप दास ने बनारस घराने के पंडित किशन महाराज के शिष्य हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार संदीप दास 8 साल की उम्र से तबला बजाना सीख रहे हैं। तबला प्लेयर के रूप में कैरियर को आगे बढ़ाने के लिए संदीप 1990 में दिल्ली शिफ्ट कर गए। 1986 में संदीप पहली बार 15 साल की आयु में पंडित रविशंकर के साथ स्टेज शो कर चुके हैं। संदीप का जन्म 23 जनवरी 1971 को हुआ है।

पढ़े :   बिहार विधानमंडल का सत्र 23 फरवरी से, 27 को होगा बजट पेश

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!