बिहार में जल्द शुरू होगी टेली मेडिसिन सेवा, …जानिए

बिहार में टेली मेडिसीन सेवा जल्द शुरू होगी, ताकि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सदर अस्पताल में भर्ती मरीजों को भी विशेषज्ञ डॉक्टरों की सलाह मिल सके। मेडिकल कॉलेज अस्पताल से प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सदर अस्पतालों को जोड़ा जाएगा।

मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में बैठे विशेषज्ञ डॉक्टर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सदर अस्पताल के डॉक्टरों को मरीज के इलाज के लिए सलाह देंगे। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व सदर अस्पताल में भर्ती मरीजों के एक्सरे,जांच रिपोर्ट मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉक्टरों के पास ऑनलाइन भेजे जाएंगे।

मरीजों के इलाज से संबंधित जो भी जानकारी व सलाह होगी वह ऑनलाइन दी जाएगी और उसी हिसाब से इलाज होगा। टेली मेडिसीस सेवा नेशनल नेटवर्क से भी जोड़ा जाएगा ताकि राष्ट्रीय स्तर पर भी विशेषज्ञ डाक्टरों की सलाह मरीजों को मिल सके।

स्वास्थ्य विभाग टेली मेडिसीन के लिए एक एजेंसी का चयन करेगी। इसके लिए शीघ्र ही विभाग टेंडर निकालेगा। यह एजेंसी ही सभी अस्पतालों के बीच टेली मेडिसीन सेवा की व्यवस्था करेगी।

राज्य में डॉक्टरों की है भारी कमी
प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सदर अस्पतालों में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी है। इन अस्पतालों में भर्ती गंभीर मरीजों को विशेषज्ञ डॉक्टरों की सलाह नहीं मिल पाती है। कई बार इन मरीजों को पीएमसीएच, इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान व आईजीआईएमएस रेफर किया जाता है। कई बार इन बड़े अस्पतालों में मरीजों को रेफर करने के दौरान ही उनकी मौत हो जाती है।

अब इस सेवा के शुरू होने के बाद कई गंभीर मरीजों की जान बचेगी। साथ ही दूर-दराज के मरीजों को विशेषज्ञ डॉक्टरों की सेवा मिलेगी। राजकीय मेडिकल कॉलेज अस्पताल बेतिया के प्राचार्य डॉ. राजीव रंजन प्रसाद ने बताया कि बिहार के लिए टेली मेडिसीन सेवा बड़ी उपलब्धि होगी।

सरकारी अस्पतालों में टेली मेडिसीन सेवा शीघ्र लागू होगी। इसके लिए एक एजेंसी का चयन किया जाएगा।
– आरके महाजन, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग

पढ़े :   बिहार: कर्मचारियों और पेंशनभोगियों की बल्ले-बल्ले, 132 फीसदी की जगह इतना मिलेगा महंगाई भत्ता

देश के तीन राज्यों में है अभी यह व्यवस्था
देश में टेली मेडिसीन सेवा अभी तमिलनाडु,कर्नाटक व महाराष्ट्र में लागू है। तमिलनाडु में यह सेवा सबसे अधिक सफल है। अभी बिहार में सबसे पहले कुछ साल पूर्व एम्स पटना में यह प्रयोग हुआ था। अब राज्य सरकार इस सेवा को पूरे राज्य में लागू करना चाहती है।

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!