आज से होने जा रहे हैं ये बड़े बदलाव, क्या होगा आप पर असर …जानिए

एक अक्टूबर यानि आज से चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही शुरू हो रही है। इस तारीख से कई नियमों को लेकर ऐसे बदलाव किए जा रहे हैं, जो लोगों की रोजाना की जिंदगी में सकारात्मक परिवर्तन ला सकते हैं।

पहला बदलाव
नहीं चलेंगे इन छह बैंकों के चेक
यदि आपका खाता एसबीआई में समाहित किए गए 5 सरकारी बैंकों या भारतीय महिला बैंक में है तो आपको नई चेक बुक के लिए तुरंत आवेदन कर देना चाहिए। आज से आप इन बैंकों के चेक का इस्‍तेमाल नहीं कर पाएंगे। इन बैंकों के आईएफएससी कोड भी बदल गए हैं।

दूसरा बदलाव
टोल पर ईटीसी प्रणाली लागू
आज से राष्‍ट्रीय राजमार्गों की सभी लेनों में इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन प्रणाली लागू हो गई है। इसके लिए जरूरी फास्टैग ऑनलाइन उपलब्ध होंगे।

तीसरा बदलाव
कॉल दरें सस्ती
ट्राई ने 1 अक्‍टूबर से इंटरकनेक्‍शन चार्जेस (आईयूसी) घटाने की घोषणा की है। ऐसा होने से एक टेलिकॉम कंपनी से दूसरी कंपनी के नेटवर्क पर बात करना सस्‍ता हो सकता है।

चौथा बदलाव
एसबीआई की न्यूनतम बैलेंस सीमा
देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने अपने ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए 1 अक्‍टूबर से मिनिमम बैलेंस की सीमा घटाने की घोषणा की है। अब महानगरों में एसबीआई के बचत खातों में तीन हजार रुपए न्यूनतम बैलेंस रखना होगा। पहले यह सीमा 5000 रुपए थी।

पांचवा बदलाव
खाता बंद करने पर शुल्क नहीं
एसबीआई ने ग्राहकों के हित में एक और बड़ा कदम उठाते हुए आज से अकाउंट बंद करने के लिए लिए जाने वाले शुल्क को भी समाप्त कर दिया है। यह सुविधा 14 दिन से कम या 1 साल से अधिक पुराने खाते बंद करने पर है।

पढ़े :   बिहार की दो हस्तियों को पद्म पुरस्कार, ...जानिए

छठे बदलाव को टाला
पुराने एमआरपी पर नहीं बिकेगा सामान
जीएसटी लागू होने के बाद 1 अक्टूबर से बाजार में पुरानी एमआरपी वाला समान नहीं बेचे जाने का नियम आने वाला था। अब नए आदेश के मुताबिक इसे 1 जनवरी 2018 से लागू किया जाएगा।

सरकार के आदेश अनुसार सभी प्रोडक्ट्स पर नई एमआरपी लिखकर बेचना होगा और इसमें जीएसटी अलग से नहीं लगाया जा सकेगा। अगर कोई पुरानी एमआरपी पर सामान बेचता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!