20 जनवरी से मुफ्त बैंकिंग सेवा समाप्त होने की खबर पर IBA का बड़ा बयान, …जानिए

सोशल मीडिया पर ये खबर तेजी से वायरल हो रही है कि 20 जनवरी से देश के सभी सरकारी और निजी क्षेत्र के बैंक अपनी हर सेवा के लिए शुल्क लेना शुरू कर देंगे। पैसे निकालने से लेकर बैंक में पैसे जमा करने पर भी चार्ज लगेगा, लेकिन अब आपके लिए खुशखबरी आई हैं।

इंडियन बैंक एसोशिएशन ने बुधवार को एक पत्र जारी कर कहा है कि सोशल मीडिया में कई दिनों से ऐसी अफवाहें फ़ैल रही हैं कि बैंक आगामी 20 जनवरी से सभी ‘फ्री सर्विस’ को बंद करने जा रहे हैं। ऐसी कोई भी अफवाह बिलकुल निराधार है। बैंकों का सेवाओं को लेकर ऐसी किसी भी तरह की ‘ब्लैंकेट रिमूवल’ का इरादा नहीं है। हालांकि बैंक अपने कमर्शियल और ऑपरेशनल कास्ट को नियंत्रित करने के लिए सेवा करों की समीक्षा करते हैं।

पढ़े :   अगर इन बैंकों का यूज कर रहे हैं मोबाइल ऐप तो हो जाएं सावधान

एसोसिएशन द्वारा स्पष्ट किया जाता है कि ये अफवाह निराधार और झूठे हैं। एसोसिएशन ने अपने स्पष्टीकरण में आम लोगों से ऐसी किसी भी अफवाह पर ध्यान न देने की भी अपील की है। इसके अलावा एसोसिएशन ने यह भी कहा है कि ऐसी खबरें शुद्ध अफवाह हैं और इस संबंध में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा भी कोई गाइडलाइन्स जारी नहीं किया गया है।

क्या है मामला
एक दैनिक अख़बार ने बैंक ऑफ इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से कहा था कि नए शुल्कों को लेकर आंतरिक आदेश मिल चुके हैं। नाम नहीं बताने की शर्त पर उक्त अधिकारी ने कहा, ‘हम रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों का पालन करते हैं। नियमों के अनुसार संबंधित बैंक का बोर्ड सभी मानकों को जांचकर सेवाओं पर लगाए जाने वाले शुल्क का फैसला लेता है। बोर्ड से मुहर लगने के बाद ही इसे अंतिम रूप दिया जाता है।’

इस खबर के अनुसार बैंक अब अपने ग्राहकों को दी जाने वाली कुछ सुविधाओं के लिए शुल्क की समीक्षा करेंगे। इन सुविधाओं में पैसा निकालने, जमा करने, मोबाइल नंबर बदलवाने, केवाईसी, पता बदलवाने, नेट बैंकिंग और चेक बुक के लिए आवेदन करने जैसी सुविधाएं शामिल हैं। जिस शाखा में आपका खाता है, उससे इतर किसी दूसरी शाखा में जाकर बैंकिंग सेवा लेने पर भी अलग से शुल्क लिया जाएगा। शुल्क पर 18 फीसद का जीएसटी भी लगेगा। यह शुल्क आपके खाते से काट लिया जाएगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!