बिहार की दो हस्तियों को पद्म पुरस्कार, …जानिए

केंद्र सरकार ने 2016 के लिए पद्म पुरस्कारों का ऐलान कर दिया है। विराट कोहली, दीपा करमाकर, मशहूर शेफ संजीव कपूर, नरेंद्र कोहली, गायक कैलाश खेर, अनुराधा पौडवाल, संगीतकार टीएन मूर्ति, साहित्यकार अली अहमद, प्रोफेसर हरि किशन सिंह को पद्मश्री सम्मान दिए जाने की घोषणा की गई है। पदमविभूषण कैटेगरी में 7, पदमभूषण में 7 जबकि पदश्री पुरस्कार से 75 हस्तियों को सम्मानित किया गया है।

जिसमें बिहार के दो हस्तियों को पद्म पुरस्कार मिला है। स्वामी निरंजना नंद सरस्वती को योगा के लिए पदम भूषण और मधुबनी पेंटिंग्स के लिए बऊआ देवी को पदमश्री से सम्मानित किया गया है।

निरंजना नंद सरस्वती हैं योग गुरु
स्वामी निरंजना नंद सरस्वती योग गुरु हैं। निरंजना नंद का 1964 में बिहार स्कूल ऑफ योगा के निर्माण में इनका महत्पूर्ण योगदान रहा है। सरस्वती मूलरूप से छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव के रहने वाले हैं। भारत में योग का प्रसार करने के पहले कई देशों में योग शिविर और कार्यशालाओं में लोगों को योग सिखा चुके हैं। निरंजना नंद ने 1994 में विश्व के पहले योग विश्वविद्यालय बिहार योग भारती की स्थापना की है।

कौन हैं बऊआ देवी
70 वर्षीय बऊआ देवी जानी मानी पेंटर हैं। मधुबनी पेंटिंग में अहम योगदान के लिए उन्हें यह सम्मान दिया गया है। बऊआ देवी मधुबनी जिले के जितवारपुर की रहने वाली हैं। मधुबनी पेंटिंग ग्रामीण कला का एक रूप है, जिसे पूर्वी बिहार के मिथिला क्षेत्र की महिलाओं ने विकसित किया है।

पढ़े :   गरीब छात्रों की जिन्दगी संवारने वाले आनंद कुमार को राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!