CM नीतीश को ले अमित शाह के इस बयान से मच सकती है राजद में खलबली, …जानिए

बिहार में सत्ताधारी महागठबंधन के घटक दलों राजद-जदयू में कलह चरम पर है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जदयू-बीजेपी गठबंधन सरकार के दिनों को याद करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनके नेतृत्व की खूब तारीफ की है।

अमित शाह ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार जब तक बीजेपी के साथ सरकार चला रहे थे, विकास हो रहा था, देश-दुनिया के अर्थशास्त्री मानते हैं कि उस दौर में बिहार बिमारू राज्य से बाहर होने की कगार पर पहुंच गया था। अब फिर से बिहार की हालत खराब हो गई है।

बता दें कि जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पर लिखी किताब (श्यामा प्रसाद मुखर्जी- हिज विजन ऑफ एजुकेशन) का दिल्‍ली में लोकार्पण करने के दौरान अमित शाह ने नीतीश कुमार और भाजपा-जदयू सरकार के कार्यकाल की जमकर तारीफ की।

नीतीश को लेकर अमित शाह के इस बयान पर बिहार में राजनीति और गरमाने की आशंका है। इसे नीतीश के समर्थन में भाजपा के स्‍टैंड के संकेत के रूप में भी देखा जा रहा है। पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी व प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष नित्‍यानंद राय सहित बिहार भाजपा के कई नेता भी सीएम नीतीश के भ्रष्‍टाचार के खिलाफ एक्‍शन का समर्थन कर चुके हैं।

विदित हो कि बीते दिनों राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के 12 ठिकानों पर सीबीआइ ने छापेमारी की थी। इस सिलसिले में सीबीआइ ने लालू प्रसाद, उनकी पत्‍नी राबड़ी देवी तथा पुत्र तेजस्‍वी यादव सहित कइयों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की। तेजस्‍वी बिहार के डिप्‍टी सीएम हैं।

डिप्‍टी सीएम तेजस्‍वी के खिलाफ भ्रष्‍टाचार की एफआइआर के बाद भाजपा उनके इस्‍तीफे की मांग कर रही है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार भी उनके इस्‍तीफे पर अड़े बताए जा रहे हैं। उधर, राजद ने साफ कर दिया है कि तेजस्‍वी इस्‍तीफा नहीं देंगे। इस मुद्दे पर महागठबंधन के दोनों घटन दलों में तकरार चरम पर पहुंच चुका है।

पढ़े :   प्रकाशोत्सव पर श्रद्धालुओं के लिए चलेंगी 227 बसें, अंतरराज्यीय बस टर्मिनल का शिलान्यास

बहरहाल, महागठबंधन तकरार के इस नाजुक दौर में अमित शाह का बयान आग को और भड़का दे तो आश्‍चर्य नहीं।

Leave a Reply