बिहार के 8 समेत देश के 255 राजनीतिक दलों की मान्यता हुई रद्द

केंद्रीय चुनाव आयोग ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए बिहार की आठ समेत देशभर की 255 राजनीतिक पार्टियों को अमान्य करार दिया है। इनमें पूर्व सांसद आनंद मोहन की पार्टी बिहार पीपुल्स पार्टी, भाजपा के पूर्व राज्यसभा सांसद जनार्दन यादव की बिहार विकास पार्टी, पूर्व राज्यसभा सांसद नरेंद्र सिंह कुशवाहा की जनहित समाज पार्टी के अतिरिक्त भारतीय जन विकास पार्टी, भारतीय प्रजातांत्रिक पार्टी, चंपारण विकास पार्टी, राष्ट्रीय स्वजन पार्टी एवं विजेता पार्टी शामिल हैं।

केंद्रीय चुनाव आयोग ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को गुरुवार को लिखे पत्र में निर्देश दिया है कि वह इन राजनीतिक दलों के वित्तीय ब्योरे की जांच करें। आयोग ने कहा है कि पूरे देश में ऐसी पार्टियों की संख्या 255 है, जिनका निबंधन जनप्रतिनिधित्व कानून 1951 के तहत रद्द किया गया है। आयोग ने जांच में पाया था कि इनमें से कई पार्टियां अस्तित्व में नहीं हैं या काम नहीं कर रही हैं।

52 पार्टियां सबसे ज्यादा राजधानी दिल्ली में पंजीकृत हैं
41 यूपी में, तमिलनाडु में 30 और महाराष्ट्र में 24 फर्जी दल मिले

पढ़े :   बिहार की 6 सीटों समेत राज्यसभा की 58 सीटों के लिए चुनाव 23 मार्च को, ...जानिए

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!