PM मोदी ने मान ली CM नीतीश की बात, कहा – अब ‘बेनामी संपत्ति’ की बारी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मांग मान ली है। अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ पर लोगों से संवाद करते हुए उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद अगला टारगेट बेनामी संपत्ति पर लगाम लगाने की है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नोटबंदी का समर्थन करते हुए पीएम मोदी से आग्रह किया था कि नोटबंदी से ही कालेधन पर लगाम नहीं लगेगा, इसके लिए बेनामी संपत्ति पर भी लगाम लगाने की जरूरत है।

नोटबंदी पर बिहार में जहां सभी विपक्षी पार्टियों ने जमकर विरोध किया था, वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसका जमकर समर्थन किया है और आज भी उसपर कायम हैं, उनका बस इतना ही कहना है कि केंद्र सरकार ने इसके लिए पूरी तैयारी नहीं की थी और इसे आनन-फानन में लागू कर दिया गया।

नीतीश ने बार-बार कहा था, करें बेनामी संपत्ति पर हमला
नीतीश ने 16 नवंबर को कहा कि नोटबंदी पर लगाम लगाने के बाद अब केंद्र सरकार को बेनामी संपत्ति पर भी जल्द हमला करना चाहिए। मधुबनी में चेतना सभा में कहा कि मैं इसका हिमायती हूं, इससे दो नंबर का जाली नोट अपने आप समाप्त होगा और दो नंबरी कारोबार कर कालाधन पैदा करने वालों का कालाधन बर्बाद होगा।

अपने सहयोगी पार्टियों के सदस्यों के तमाम विवाद झेलते हुए भी नोटबंदी पर समर्थन को लेकर नीतीश अटल रहे और उन्होंने कहा कि वह पूरी तरह नोटबंदी के पक्ष में हैं। साथ ही सीएम ने केंद्र से मांग की कि बेनामी संपत्ति पर भी नजर रखे।

पीएम ने मान ली सीएम नीतीश की बात
उन्होंने कहा कि लोगों के पास जो बेनामी संपत्ति है, इस पर भी नजर रखिए। नीतीश ने बार-बार दुहराया कि केंद्र सरकार को बेनामी संपत्तियों पर भी जल्द से जल्द हमला करना चाहिए। इस बात का शायद समर्थन करते हुए ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात में कहा कि नाेटबंदी के बाद देश मेंं डिजिटल ट्रांजेक्शन में 200 से 300 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। अब बेनामी संपत्ति के खिलाफ अभियान चलेगा।

पढ़े :   हिंदी में नासिरा शर्मा, मैथिली में श्याम दरिहरे को साहित्य अकादमी पुरस्कार

पीएम ने कहा – बेनामी संपत्ति के खिलाफ सख्त कानून
पीएम मोदी ने कहा कि इसके लिए पुराने कानून को और सख्त किया जा रहा है। जल्द ही यह कानून अपना काम शुरु करेगा। पीएम ने कहा, जनता सरकार के फैसले के साथ है। कालेधन के खिलाफ छापेमारी और इतनी मात्रा में कालेधन की बरामदगी जनता से मिल रही जानकारी की बदौलत संभव हुई है।

सहयोग के लिए राज्यों के प्रति जताया आभार
प्रधानमंत्री ने कालेधन के खिलाफ और नोटबंदी पर साथ देने वालों के प्रति आभार जताया। उन्होंने कहा, कई राज्य भी इसमें बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। असम सरकार ने भी कई काम किये हैं। पीएम मोदी ने कैशलेस के फायदे गिनाये और कहा, कैश में सैलरी मिलने के कारण मजदूरों का शोषण होता है। अब बैंक अकाउंट में पैसे मिलने लेगे हैं. इससे उन्हेंं कई तरह के लाभ मिल रहे हैं।

पीएम मोदी ने नीतीश की खुलकर तारीफ की थी
बीजेपी संसदीय बोर्ड की मीटिंग को संबोधित करते हुए पीएम ने नोटबंदी के मुद्दे पर दो राज्यों के मुख्यमंत्री की तारीफ में कसीदे पढ़े हैं। नरेंद्र मोदी ने उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ की है और नोटबंदी का समर्थन करने के लिए धन्यवाद कहा है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!