आखिर क्यों 25 दिसंबर को मनाया जाता है क्रिसमस डे, …जानिए

क्रिसमस आ गया है। पूरे भारत समेत दुनियाभर में 25 दिसंबर की तारीख को क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है। ये दिन खास इसलिए होता है क्योंकि इस दिन ईसाई धर्म प्रवर्तक ईसा मसीह का जन्मदिन हुआ था। ये तो लगभग सभी जानते हैं। लेकिन इसके अलावा क्रिसमस को बड़ा दिन भी कहते हैं क्या इसके पीछे के कारणों को जानते हैं? नहीं न? तो चलिए हम आपको बताते हैं कि बचपन से सुनते चले आ रहे 25 दिसंबर को क्यों कहते हैं बड़ा दिन :

  • बहुत सी किताबों में जिक्र है कि 25 दिसंबर को रोम के लोग रोमन उत्सव के रूप में सेलिब्रेट करते थे। इस दिन लोग एक दूसरे को ढेर सारे उपहार देते थे। खुशियां बांटते थे। धीरे-धीरे ये उत्सव काफी बड़ा हो गया और इसकी भव्यता को देखते हुए इस दिन को लोग ‘बड़ा दिन’ कहा जाने लगा।
  • दूसरी कथा के आधार पर सदियों पहले ये दिन भारत में मकर संक्रान्ति के रूप में मनाया जाता था। ये एक बेहद पावन अवसर होता है और हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार इस दिन खूब दान पुण्य किया जाता है इसलिए इसे ‘बड़ा दिन’ नाम दिया गया।
  • ईसा मसीह के जन्मदिन के बारे में शुरु से ही मतभेद हैं। एन्नो डोमिनी काल प्रणाली के आधार पर यीशु का जन्म, 7 से 2 ई.पू. के बीच हुआ था, ऐसा माना जाता है, भारत में इस दिन को रोमन यामकर संक्रांति से संबंध स्थापित करने के आधार पर चुना गया था जिसके कारण इसे ‘बड़े दिन’ का नाम दिया गया।
  • ईसाईयों में बहुत ज्यादा त्यौहार होते भी नहीं है इसलिए उनके लिए यही सबसे बड़ा दिन होता है, इसलिए भी इसे बड़ा दिन कहा जाने लगा।
पढ़े :   क्यों मनाया जाता है शिवरात्रि का पर्व, पढ़ें पूरी कहानी

Leave a Reply

error: Content is protected !!