चेन्नई टेस्ट में भारत की ऐतिहासिक जीत, 18 मैचों से अजेय है कोहली ब्रिगेड

चेन्नई: भारत और इंग्लैंड के बीच खेली गई पांच टेस्ट मैच की सीरीज के आखिरी मैच में टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया है। चेन्नई में खेले गए पांचवें और आखिरी टेस्ट में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को एक पारी और 75 रन से मात दी। इसके साथ ही विराट की सेना ने 4-0 से सीरीज अपने नाम कर ली है।

टीम इंडिया की चेन्नई टेस्ट में जीत के सितारों की बात करें इसमें करुण नायर (303 *), लोकेश राहुल (199) और रवींद्र जडेजा (10 विकेट- दूसरी पारी में 7 और पहली में 3) प्रमुख रहे। इनमें से करुण नायर (करुण Niar) को मैन ऑफ द मैच मिला। पूरी सीरीज में रनों का अंबार लगाने वाले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (655 रन) को मैन ऑफ द सीरीज का खिताब मिला।

इंग्लैंड के खिलाफ सबसे बड़ी जीत
विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया हर सीरीज में नई उपलब्धियां हासिल करती जा रही है। उसने इस सीरीज में इंग्लैंड पर अब तक की सबसे बड़ी जीत (4-0) दर्ज की है। इंग्लैड के खिलाफ क्रिकेट इतिहास में ये पहला मौका है जब भारत ने उसे 4-0 से मात दी है। इससे पहले वह 1992-93 मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में इंग्लैंड को 3-0 से में ‘वाइटवाश’ कर चुकी है।

विराट ने गावस्कर को छोड़ा पीछे
टीम इंडिया लगातार 18 मैचों से नहीं हारी है। इससे पहले वह 1985 1987 तक लगातार 17 से मैचों में अपराजेय रही थी। तब कप्तान सुनील गावस्कर थे। यह सिलसिला पिछले साल श्रीलंका में 3 मैचों की सीरीज से शुरू हुआ था, जिसमें टीम इंडिया ने 2-1 से जीत हासिल की थी।

पढ़े :   महेंद्र सिंह धोनी ने छोड़ी वनडे और टी-20 की कप्तानी, बतौर खिलाड़ी खेलते रहेंगे

8 साल बाद इंग्लैंड से नहीं हारे सीरीज
टीम इंडिया का इंग्लैंड के खिलाफ रिकॉर्ड पिछले 8 वर्षों से अच्छा नहीं रहा था। अब 8 साल बाद ऐसा हुआ है जब वह इंग्लैंड से नहीं हारी है। पिछला रिकॉर्ड देखें, तो 2011 में इंग्लैंड ने अपने देश में भारत को 4-1 से हराया था। उसने 2012 में टीम इंडिया को उसी की धरती पर 2-1 से हराया और 2014 में इंग्लैंड ने अपनी ही धरती पर भारत को 3-1 से हराया था।

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!