बिहार के लाल ने बनाया यूनिक ड्रोन: बताएगा किस स्टोर में कौन सा सामान कहां है, …जानिए

बिहार में प्रतिभावानों की कमी नही है, बिहार के युवा हर जगह अपना परचम अपने कार्यो की बदौलत लहराते रहे हैं। आज हम बात कर रहे है अमन चंद्रा की। जब खड़गपुर आईआईटी के सभी स्टूडेंट दिसंबर की छुट्टियां मना रहे थे तब अमन चंद्रा एक ऐसा ड्रोन को तैयार करने में लगे थे, जो वेयर हाउस में सभी सामान की लोकेशन बता दे।

एक महीने की मेहनत रंग लाई और इस ड्रोन ने आईआईटी खड़गपुर को आईआईटी मद्रास में 5 से लेकर 7 जनवरी तक आयोजित तीन दिवसीय छठे इंटर आईआईटी टेक्नोलॉजी मीट में गोल्ड मेडल दिलाया। यह ड्रोन वेयरहाउस इनवेंटरी चेक इवेंट के लिए बनाया गया है।

19 आईआईटी की टीम ने लिया था हिस्सा
5 से 7 जनवरी तक आयोजित वार्षिक प्रतियोगिता में 19 आईआईटी की टीम ने हिस्सा लिया था। इसमें खड़गपुर ने 888 अंक पाकर छह गोल्ड मेडल जीते और चैंपियन बना, वहीं 668 अंक पाकर रुड़की दूसरे व मद्रास ने 650 अंक पाकर तीसरा स्थान प्राप्त किया।

स्टोर में रखे सामान को ऐसे पहचानता है ड्रोन
अमन ने बताया कि यह ड्रोन एक स्टोर में रखे पैकेज पर लगे बारकोड व क्यू आर कोड को स्कैन कर एक डेटाबेस तैयार कर बड़ी आसानी से पैकेज को एक स्थान से दूसरे स्थान पर हस्तांतरित कर सकता है। ये बड़े स्टोर्स में काफी उपयुक्त होगा।

बेतिया सिटी के रहने वाले हैं अमन
अमन चंद्रा बेतिया शहर के रहने वाले हैं। बेतिया के इस लाल ने पूरे देश के सामने अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराते हुए जिला व सूबे का नाम रोशन किया है। आज अमन की पहचान देश स्तर के सभी इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के छात्र-छात्राओं के बीच बन चुकी है और भारत देश को इस होनहार छात्र पर नाज भी हो रहा है। देशभर से बेतिया के इस लाल को शुभकामनाएं मिल रही हैं।

पढ़े :   पीएम मोदी ने सिंगापुर में खरीदी मधुबनी पेंटिंग, ...जानिए

10वीं और 12वीं कक्षा का भी टॉपर था अमन
बेतिया के संत जेवियर्स स्कूल से दसवीं की परीक्षा पास करने वाले अमन चंद्रा ने बारहवीं की परीक्षा पटना के संत माइकल से पास की और प्रथम प्रयास में ही आईआईटी की परीक्षा पास कर ली। अमन ने अपने परिजनों को अपनी कामयाबी का श्रेय दिया है। डीईओ हरेंद्र झा ने बताया कि अमन चंद्रा जैसे होनहार छात्र की प्रतिभा जिले के लाखों छात्र-छात्राओं के लिए प्रेरणादायक है। उसने पूरे जिले का नाम रोशन किया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!