IIT पटना के छात्रों ने बनाया “किसान कनेक्ट” एप, किसान को सीधे मंडी से जोड़ेगा

आइआइटी पटना के छात्रों की टीम ने ऐसा एप विकसित किया है, जो किसानों को उनकी उपज की बेहतर कीमत दिलाने में मदद करेगा। यही नहीं, इस एप से उन्हें इस बात की भी जानकारी मिलेगी कि उनके आसपास की मंडियों में फसल का कितना दाम मिल सकता है। यह सब संभव होगा ‘किसान-कनेक्ट’ एप से, जिसे संस्थान के कम्प्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के छात्रों ने किसानों के लिए विकसित किया है।

छात्रों द्वारा बनाए गए इस एप्लीकेशन को हैकॉथन मोबाइल एप डेवलपमेंट कॉन्टेस्ट में दूसरा पुरस्कार मिला है। इस प्रतियोगिता का ग्रैंड फिनाले 21 दिसंबर को नई दिल्ली में आयोजित किया गया था। फाइनल में दस टीमें पहुंची थीं, जिनमें दो आइआइटी पटना एवं एक टीम बीआइटी पटना की थी। संस्थान की टीम को प्रतियोगिता में दूसरे स्थान पर आने पर 75 हजार रुपये का पुरस्कार मिला है। एप बनाने वाली टीम में आईआईटी पटना के मयंक गोयल, नमन अग्रवाल, एलन आइपे, और न्यूटन कुमार शामिल हैं।

आइआइटी पटना के कंप्यूटर साइंस इंजीनिय¨रग विभाग के शोधार्थी नीलोत्पल चक्रवर्ती ने बताया कि यह एप आम लोगों एवं किसानों को इस्तेमाल के लिए तीन महीने बाद उपलब्ध होगा। यह एप्लीकेशन किसानों को उनके आसपास मोस्ट प्रॉफिटेबल मार्केट खोजने में मदद करेगा। एप्लीकेशन में किसानों की जरूरतों के लिए सारी व्यवस्थाएं की गई हैं। यह बिचौलियों की भूमिका को पूरी तरह खत्म कर देगा। बाजार और किसानों के बीच कड़ी का काम यह एप्लीकेशन करेगा।

मंडी में बेचने के लिए अगर एप पर दो किसान एक ही उत्पाद की अलग-अलग कीमत तय करते हैं तो यह उन्हें इस बात का सुझाव देगा कि यह कीमत कितनी होनी चाहिए। इस कीमत के निर्धारण में एप पिछले तीन साल की फीड की गई कीमतों को आधार बनाएगा। किसी फसल की सही कीमत क्या हो सकती है, इसके लिए पिछले तीन साल की अलग-अलग दिनों की कीमत को इसमें शामिल किया जाएगा।

पढ़े :   नीतीश कैबिनेट का बड़ा फैसला : जम्मू-कश्मीर से B.Ed. करने वाले भी बिहार में पाएंगे नौकरी

इससे व्यवस्था में पारदर्शिता आएगी। इसके अलावा एप्लीकेशन सामानों के डिमांड के हिसाब से उसकी कीमत तय करने में भी मदद करेगा। उपभोक्ता भी इस एप्लीकेशन का लाभ उठा सकते हैं। इसके जरिए वे सामानों की सही कीमत को जान पाएंगे।

शोधार्थी नीलोत्पल के अनुसार शुरुआती दौर में यह एप एंड्रॉयड एवं आइओएस आधारित मोबाइल फोन पर डाउनलोड किया जा सकेगा। योजना है भविष्य में यह एप साधारण फोन पर भी काम करे।

Rohit Kumar

Founder- livebiharnews.in & Blogger- hinglishmehelp.com | STUDENT

Leave a Reply

error: Content is protected !!