बिहार के लाल का कमाल: बाइक और बिजली की चोरी बचाएगी ये डिवाइस, …जानिए

बिहार में प्रतिभावानों की कमी नही है, बिहार के युवा हर जगह अपना परचम अपने कार्यो की बदौलत लहराते रहे हैं। आज हम बात कर रहे है गरीब परिवार में जन्मे इंजीनियरिंग में स्नातक मुजफ्फर इलियास की। जिन्होंने एक नया अविष्कार किया है।

इलियास ने बाइक और बिजली को चोरी से बचाने के लिए एक डिवाइस तैयार की है। इलियास का ताजा आविष्कार यदि सरकार अपना ले तो प्रीपेड मीटर पर होने वाले भारी-भरकम खर्च से बचा जा सकता है। मीटर के साथ छेड़छाड़ भी नहीं हो सकेगी।

बिहार के सिवान के हसनपुरा प्रखंड के शेखपुरा गांव में इलियास के घर तक जाने का रास्ता तो कठिन है, लेकिन छोटे से घर में उड़ान भर रहे हैं इलियास के सपने और हौसले। इलियास ने उत्तर प्रदेश के अमरोहा के एक संस्थान से मैकेनिकल इंजीनियरिंग से बीटेक किया है, लेकिन इलियास का रुझान कंप्यूटर साइंस और इलेक्ट्रॉनिक्स में है।

कई कंपनियों से नौकरी के ऑफर आए, परंतु इलियास का लक्ष्य तो आकाश की बुलंदियों को छूने का है। पूर्व में वह नेत्रहीनों के लिए कंप्यूटर का विशेष सॉफ्टवेयर बना चुका है।

तो रुक जाएगी बिजली की चोरी
पूरे देश, खासकर बिहार में बिजली की चोरी से आपूर्ति कंपनियां ज्यादा परेशान हैं। ज्यादा बकाया होने पर कनेक्शन काटने के लिए जाने पर विद्युतकर्मियों के साथ झड़प और मारपीट की घटनाएं सामने आती हैं।

इनसे बचने के लिए इलियास ने एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस तैयार की है, जो मोबाइल फोन से कंट्रोल होती है। इसे किसी भी इलेक्ट्रॉनिक विद्युत मीटर में लगाया जा सकता है। इसके माध्यम से ऑफिस में बैठे-बैठे अफसर बिजली की खपत पर नजर रखने के साथ जरूरत पडऩे पर कनेक्शन भी काट सकते हैं। कर्मचारी को मीटर तक जाने की जरूरत ही नहीं।

पढ़े :   PM मोदी के कैशलेस इंडिया पॉलिसी के मुरीद हुए बिहार के दो युवा अफसर ने ऐसे रचाई शादी...

ऐसे करती है काम
इलियास ने बताया कि मीटर में लगाने वाली डिवाइस में एक जीएसएम या सीडीएमए सिम कार्ड लगेगा। इसमें ड्यूएल टोन मल्टी फ्रीक्वेंसी की प्रोग्राङ्क्षमग होगी। सिम वाले नंबर पर काल करने पर स्वत: कनेक्ट होगा।

इसके बाद निर्धारित अंक वाले बटन को दबाने पर उसके हिसाब से डिवाइस काम करेगी। लाइन काटने वाले बटन को दबाया तो तुरंत कट जाएगी। रीडिंग की जानकारी लेने वाले बटन को दबाने पर ऑडियो या टेक्स्ट के माध्यम से सूचना मिल जाएगी। इलियास ने इसपर पूरा काम कर लिया है।

इलियास की इच्छा है कि प्रीपेड मीटर पर जनता की गाढ़ी कमाई को खर्च करने के बजाए इस सस्ती और सुरक्षित डिवाइस को मीटर में फिट किया जाए, क्योंकि इसके साथ कोई छेड़छाड़ कर ही नहीं सकता। इलियास ने बाइक को भी चोरी से बचाने के लिए इसी सिस्टम से डिवाइस तैयार की है। आप कहीं रहें और बाइक कहीं खड़ी रहे, कोई उसे स्टार्ट नहीं कर सकता, जब तक डिवाइस हटा न दी जाए।

किसी के संज्ञान न लेने का मलाल
इलियास ने बताया कि उसने सीएम से लेकर सांसद और कई अधिकारियों को भी अपने आविष्कारों के बारे में बताया है, लेकिन किसी ने खास रुचि नहीं ली। इलियास ने हार नहीं मानी है। इलियास अब बड़े प्रौद्योगिकी मेले में अपने अविष्कार का प्रदर्शन करेंगे। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम इलियास के आदर्श हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!