वाल्मीकि टाइगर रिजर्व में अब राफ्टिंग व हाथी की सवारी का आनंद लेंगे पर्यटक

बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के वाल्मीकि टाइगर रिजर्व क्षेत्र में आने वाले पर्यटक अब हाथी की सवारी कर सकेंगे, इसके साथ ही गंडक नदी में नौका विहार का भी आनंद ले सकेंगे। वाल्मीकि व्याघ्र संरक्षण न्यास की शासी परिषद की बैठक में न्यास के अध्यक्ष डिप्टी सीएम सह पर्यावरण व वन मंत्री सुशील कुमार मोदी ने पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए आश्रयणी में सस्ती दर पर आवासीय व परिभ्रमण की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए गंडक में नौका विहार, राफ्टिंग व हाथी की सवारी की व्यवस्था और वर्क फोर्स के तौर पर प्रबंधक से लेकर लेखा पदाधिकारी, माली आदि के 43 पदों पर नियोजन का निर्णय लिया गया, ताकि स्थानीय लोगों को समायोजित कर पर्यटकों को बेहतर सुविधा मुहैया करायी जा सके।

अभी वाल्मीकिनगर, गोबरधना, नौरंगिया में चार स्यूट, 10 एसी कमरे, छह नन एसी कमरे, छह बेंबू हट, दो टेंट हट व एक ट्री हट, कोटराहा में 40 बेड की डॉरमेटरी व मंगुराहा में दो इको हट के जरिये एक साथ 124 पर्यटकों के ठहरने की व्यवस्था उपलब्ध है। पर्यटकों के भ्रमण के लिए चार जिप्सी व एक जीप की सुविधा है। सफारी के लिए कर्नाटक से छह व अंडमान से आठ हाथी लाये जायेंगे। गंडक में नौका विहार और राफ्टिंग का लुत्फ भी पर्यटक उठा सकेंगे। इसके अलावा वहां लक्ष्मण झूला के समान बना पुल भी पर्यटकों को आकर्षित करेगा।

उपमुख्यमंत्री सह पर्यावरण व वन मंत्री ने आवास व सफारी वाहनों की वर्तमान दर में कटौती करने का निर्देश दिया, ताकि पर्यटकों को किफायती दर पर रहने व घूमने की सुविधा मिले और अधिक से अधिक संख्या में लोग टाइगर रिजर्व में आने के लिए उत्सुक हों। दर में कटौती कर उसका निर्धारण सीजन और ऑफ सीजन के आधार पर करने के लिए उन्होंने विभाग के प्रधान सचिव को अधिकृत किया। न्यास के मुख्य उद्देश्य व लक्ष्यों की प्राप्ति व सतत कार्य संचालन के लिए 15 करोड़ के करप्स फंड के बनाने की अनुसंशा की गयी।

पढ़े :   बेगूसराय के सांसद भोला सिंह का निधन

कार्ययोजना बनाने का निर्देश
मोदी ने न्यास को अगले पर्यटन सीजन के लिए सम्यक कार्ययोजना बनाने का भी निर्देश दिया। न्यास के सदस्यों ने लोकल एडवाइजरी कमेटी गठित करने, पर्यटकों से फीडबैक लेने, आश्रयणी की वेबसाइट को और आकर्षक बनाने आदि के सुझाव दिये। मोदी ने कहा कि बजट सत्र के उपरांत वह टाइगर रिजर्व का भ्रमण कर सुविधाओं का निरीक्षण करेंगे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!